रूस और ईरान ने दी अमेरिका को धमकी, साथ मिलकर देंगे मुंहतोड़ जवाब

मॉस्को/वॉशिंगटन-सीरिया में अमेरिकी हमले से बौखलाए रूस और ईरान ने अमेरिका को मुंहतोड़ जवाब देने की बात कही है। दोनों ही देशों ने अमेरिका को चेतावनी दे दी है कि यदि इस बार उसने सीरिया में 'लक्ष्मण रेखा' पार किया तो उसी ताकत से जवाब दिया जाएगा। राष्ट्रपति बशर-अल-असद सरकार को समर्थन दे रहे ईरान और रूस ने यह धमकी रासायनिक हमले के बाद सीरिया के शेखहुन प्रांत में शरयात एयरबेस पर अमेरिकी हमले को लेकर दी है।
ग्रुप के जॉइंट कमांड सेंटर की ओर से कहा गया, 'अमेरिका ने सीरिया में जो किया वह 'लक्ष्मण रेखा' को पार करना है। आगे से हम ऐसी किसी भी कार्रवाई और उकसावे का जवाब देंगे। अमेरिका हमारी जवाबी क्षमता को जानता है।' गौरतलब है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा है कि सीरिया के एयरबेस पर करीब 60 टॉमहॉक मिसाइलों से किया गया हमला पूरी दुनिया की तरफ से था। आरोप है कि करीब 100 लोगों की जान लेने वाले रासायनिक हमले के लिए इसी एयरबेस का इस्तेमाल किया गया था। दूसरी तरफ ब्रिटेन ने भी इस नरसंहार के लिए रूस को जिम्मेदार ठहराया है।
जॉइंट कमांड सेंटर ने रविवार को यह भी कहा कि मिसाइल हमला सीरिया को 'स्वाधीनता' से अलग नहीं कर सकता। साथ ही यह भी आरोप लगाया कि देश के उत्तरी भाग में अमेरिकी सैनिकों की मौजूदगी अवैध कब्जा है। रूस से राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन और ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी ने केमिकल हमले की जांच की बात कही है। दूसरी तरफ अमेरिका ने कहा है कि मॉस्को वर्ष 2013 में हुए समझौते के तहत सीरिया के रासायनिक हथियारों को नष्ट करने में नाकाम रहा है।

News Posted on: 09-04-2017
वीडियो न्यूज़