योगी सरकार लखनऊ में उर्दू यूनिवर्सिटी के लिए देगी जमीन

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार जल्द ही मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी के लखनऊ कैंपस के लिए जमीन देने वाली है. इस यूनिवर्सिटी के चांसलर और पीएम मोदी के करीबी माने जाने वाले ज़फर सरेशवाला ने सीएम योगी से इस मामले में मुलाकात भी की है. ज़फर के मुताबिक योगी ने उन्हें जल्द ही अच्छी खबर देने का वादा किया है.
मौलाना आज़ाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के देश भर में 11 कैंपस हैं. हालांकि यूपी में अभी तक इसका एक भी कैंपस नहीं है. सरेशवाला ने इस संबंध में योगी को एक पत्र भी लिखा है. इस ख़त में सरेशवाला ने लिखा है कि लखनऊ का ये कैंपस राज्य के मुस्लिम युवाओं को मेनस्ट्रीम में लाने का काम करेगी. बता दें कि सरेशवाला को साल 2015 में इस यूनिवर्सिटी का चांसलर नियुक्त किया गया था. सरेशवाला गुजरात के रहने वाले हैं और उनका बीएमडब्ल्यू कारों की डीलरशिप का बिजनेस है.
सरेशवाला ने कहा कि यूपी में मदरसों के आधुनिकीकरण के लिए भी सीएम योगी के साथ चर्चा की गई है. यूपी में फिलहाल 48,000 मदरसे हैं जिन्हें सरकार से मदद मिलती है.
हालांकि इंफ्रास्ट्रक्चर के लिहाज से इन सभी मदरसों की हालत बेहद ख़राब बताई जाती है. सरेशवाला के मुताबिक यूपी में मुसलमानों की आबादी 19 प्रतिशत है और योगी सरकार उनके विकास के लिए ज़रूरी कदम उठा रही है. उन्होंने आगे कहा कि योगी माइनोरिटी कम्युनिटी के विकास के लिए प्रतिबद्ध नज़र आते हैं.

News Posted on: 17-04-2017
वीडियो न्यूज़